खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र

खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र

खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र

खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र, वशीकरण की विधि में खिलाने-पिलाने वाली चीजों की भूमिका बहुत अधिक महत्वपूर्ण होती हैं| जब हम किसी को अपने बस में करने के लिए तंत्र-मंत्र का सहारा लेते हैं,तो इस क्रिया के दौरान अक्सर हम किसी खाद्य पदार्थ को अभिमंत्रित कर उस व्यक्ति को खिला देते हैं|

अभिमंत्रित वस्तु व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर रसायनिक क्रियाओं द्वारा उस व्यक्ति की चेतना पर हावी हो जाती हैं और उस व्यक्ति की सोचने-समझने की शक्ति को क्षीण कर देती हैं| ये अभिमंत्रित खिलाया-पिलाया वस्तु नष्ट नहीं होती हैं,ना ही पचती हैं|

खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र
खिलाया पिलाया निकालने का मंत्र

यह वर्षों तक शरीर में पड़ी हुई सड़ती रहती हैं| गंभीर पूजा अर्चना व अनुष्ठान के द्वारा भी इस खिलाया पिलाया को नहीं निकाला जा सकता हैं| इसे निकालने के लिए एक निश्चित प्रक्रिया होती हैं|ऐसे खिलाया पिलाया निकालने के लिए ज्योतिषशास्त्र में कुछ विधियों की चर्चा की गयी हैं| आज हम इस लेख में इस विधि के बारे में जानेंगे|

  • माँ काली की पूजा– यदि किसी व्यक्ति को कुछ खिला-पिला कर उसकी चेतना पर किसी ने कब्जा कर रखा हों,तो उसे इस से मुक्ति के लिए हमें माँ काली की उपासना करनी चाहिए| माँ काली के मंदिर में अर्ध रात्री के समय पूजा-अनुष्ठान कर के इस मंत्र का २१ माला जाप करनी चाहिए-

मंत्र- ॐ हलिङ्ग क्लिंग चामुंडाए विचछ्य: नम:

जाप के बाद जिस व्यक्ति का खिलाया-पिलाया निकालना हो,तो अष्टगंध का टीका माँ काली के चरणों पर लगाने के बाद उस व्यक्ति के ललाट पर लगा दें| पूजा के पश्चात भोग का प्रसाद उस व्यक्ति को खिला दें|

प्रसाद खाने के कुछ ही समय बाद उल्टी अथवा दस्त के माध्यम से खिलाया पिलाया वस्तु व्यक्ति के शरीर से बाहर निकाल जाएगा| माँ काली की कृपा से वह व्यक्ति पूर्णतया अपनी चेतना में लौट आएगा|

  • हनुमान मंत्र-ॐ बलसिद्धिकराय नाम: ॐ व्रजकायाय नमः ॐ महावीराय नाम: ॐ रक्षोविध्वंसकाराय नाम: ॐ सर्वरोगहराय नम

उपयुक्त मंत्र का जाप शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में करनी चाहिए| हनुमानजी कि कृपा से जातक के शरीर में मौजूद अभिमंत्रित वस्तु अतिशीघ्र उसके शरीर से बाहर निकाल जाएगा|

खिलाया पिलाया दूर करने के उपाय

खिलाया पिलाया दूर करने के उपाय, खिलाया पिलाया हुआ एक तरह से नकारात्मक ऊर्जा पैदा करता हैं,जिसे तंत्र –मंत्र के माध्यम से या तो कम किया जा सकता हैं अथवा पूरी तरह निकाला जा सकता हैं| खिलाया पिलाया के प्रभाव को दूर करने के लिए हम निम्नलिखित उपायों को आजमा सकते है:-

  • इष्टदेव की पुजा– खिलाया पिलाया के प्रभाव को दूर करने के लिए यह काफी समान्य उपाय हैं| प्रतिदिन स्नान आदि के पश्चात अपने इष्टदेव की पूजा करें| पूजा के पश्चात गायत्री मंत्र का १०८ बार जाप करें|

गायत्री मंत्र- ॐ भूर्व भव: स्व: तत्स वितुर्वरेण्यं भर्गों देवस्य धीमही धीयो यो नप्रचोदयात

इस मंत्र का काफी चमत्कारी प्रभाव देखने को मिलता हैं| जादू टोने से बंधा व्यक्ति धीरे-धीरे समान्य होने लगता हैं|

  • सूर्य देव की पूजा– वशीभूत व्यक्ति के अंदर से खिलाया-पिलाया हुआ का असर खत्म करने के लिए सूर्य देव की अराधना बहुत काम आती हैं| प्रतिदिन स्नान आदि के बाद सूर्य देव को अर्घ देते हुए निम्न मंत्र का जाप करें:-

मंत्रॐ नमो भगवते श्री सूर्याय ह्रीं सहस्त्र-किरनाय अतुल बल पराक्रमाय नवग्रह दिश दिक पाल लक्ष्मी देव वाय,धर्म कर्म साहितायै अमुक नाथय, मोहय मोहय, आकर्षय आकर्षय,दासानु दासंग कुरु कुरु वश कुरु कुरु स्वाहा|

  • रुद्रावतार हनुमान की पूजा-यदि किसी को कुछ खिला-पीला कर उस पर काला जादू किया हुआ हो,तो रूद्रवतार हनुमान की पूजा से उस जादू का असर समाप्त हो जाता हैं| प्रतिदिन हनुमान चालीसा व हनुमान बाण का पाठ ज़ोर-ज़ोर से करनी चाहिए ताकि जातक के कानो में पाठ कि आवाज़ पहुँच सके| किसी भी प्रकार का वशीकरण हनुमानजी कि कृपा से खत्म हों जाएगा|

खिलाया पिलाया के लक्षण

खिलाया पिलाया के लक्षण, तांत्रिक षटक्रम में आने वालेवशीकरण,मोहन,आकर्षण में अधिकतर व्यक्ति को वशीभूत करने के लिए खिलाने –पिलाने वाली वस्तु का उपयोग होता हैं| यदि किसी को कुछ खिला-पिला कर अपने वश में किया हुआ हो,तो उस व्यक्ति के लक्षणो से हम इस बात का पता लगा सकते हैं:-

  • खिलाया-पिलाया हुआ व्यक्ति हमेशा उलझा हुआ रहता हैं| उसपर वशीकरण करने वाले व्यक्ति का सानिध्य उसे बहुत अच्छा लगता हैं| बाकी सब से वह चिढ़ा हुआ रहता हैं|
  • उस व्यक्ति के सिर पर हमेशा बोझ जैसा महसूस होता हैं और वह स्वतंत्र हो कर भी स्वतंत्र महसूस नहीं करता हैं|
  • चूकी खिलाई गयी वस्तु उस व्यक्ति के भीतर मौजूद होती हैं,इसलिए उस व्यक्ति को अक्सर कब्ज कि शिकायत रहती हैं|
  • यदि किसी व्यक्ति को मोहन में बांधने के लिए कुछ खिलाया गया हो,तो ऐसा व्यक्ति हमेशा एक विशेष गंध से आकर्षित होता हैं, वो हमेशा इस गंध को अपने आस-पास चाहता हैं| ऐसा ना होने पर वह विचलित हो जाता हैं|
  • वशीकरण अथवा आकर्षण में फंसा व्यक्ति कि आंखे हमेशा चढ़ी हुई रहती हैं| उसकी आंखो को देखने से ऐसा प्रति होता हैं,जैसे वो अपने वश में ना हों,और ना ही उसका खुद पर कोई नियंत्रण होता हैं| ऐसे व्यक्ति को नींद की कमी हो जाती हैं|
  • ऐसे व्यक्ति उल्टे-सीधे कार्य करने लगते हैं| दिनचर्या के समान्य कार्यों में भी उससे गलती होने लगती हैं| उनके शरीर के भीतरी हिस्से खास कर जांघों पर बिना चोट लगे ही नीले निशान बन जाते हैं|

खिलाया पिलाया निकालने का टोटका

खिलाया पिलाया निकालने का टोटका, ज्योतिषशास्त्र में खिलाया-पिलाया को निकालने के लिए कुछ टोटकाओं का बारे में भी बताया गया हैं| इन में से कुछ इस प्रकार से हैं:-

  • यदि किसी व्यक्ति को कुछ खिला-पीला कर उस पर काला जादू किया गया हैं,तो काला जादू के असर को खत्म करने के लिए वैदिक अनुष्ठान का सहारा लेना चाहिए| किसी तांत्रिक की सहायता से अमावस्या के दिन मध्य रात्री को अनुष्ठान करनी चाहिए| सारी प्रक्रिया सम्पन्न होने के बाद अभिमंत्रित जल को उस व्यक्ति के ऊपर छिड़क दें| इस अनुष्ठान के बाद व्यक्ति के अंदर मौजूद खिलाया-पिलाया पदार्थ खुद-ब खुद नष्ट हो जाएगा|
  • खिलाया पिलाया का असर खत्म करने के लिए हम किसी तांत्रिक की मदद से अभिमंत्रित कवच यंत्र धारण कर सकते हैं| यह कवच आपकी रक्षा सभी प्रकार की नकरतात्मक ऊर्जा से करेंगा साथ ही यदि किसी ने कुछ खिला पिला कर आपको अपने वश में किया हों,तो यह कवच उसके असर को खत्म करेगा| इस कवच को धारण करने के बाद मांसाहारी वस्तु व शराब का सेवन नहीं करनी चाहिए| अन्यथा इसका असर समाप्त हो जाएगा|
  • एक नींबू को लेकर वशीभूत व्यक्ति के ऊपर से २१ बार उसारते हुए नजर उतार लें| इसके बाद इस नींबू के चार टुकड़ों में काट कर किसी निर्जन स्थान पर फेंक दें| यह टोटका खिलाये-पिलाये हुए वस्तु के निकालने में बहुत ही कारगर सिद्ध होता हैं|

खिलाये-पिलाये का निदान बहुत ही कठिन होता हैं| यह एक जटिल प्रक्रिया हैं,जिसे किसी जानकार तांत्रिक से ही करवाना चाहिए| कई बार हम हम ऐसे लोगों के चक्कर में फस जाते जो हाथ की सफाई दिखा कर हमें बेवकूफ बनाते हैं| इसलिए इन कार्यों के लिए हमें किसी सिद्ध तांत्रिक से संपर्क करना चाहिए,तभी हमारा कार्य सफल हो सकता हैं|

शत्रु को पीडित करने के वशीकरण उपाय

[Total: 1    Average: 5/5]